भूस्सखलन से करीब 15 हजार यात्री फंस गए 
Breaking News
News Website - World News | Top Stories

भूस्सखलन से करीब 15 हजार यात्री फंस गए 

0 8

Sponsors

शुक्रवार दोपहर बद्रीनाथ मार्ग पर भूस्सखलन से करीब 15 हजार यात्री फंस गए हैं. बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (बीआरओ) का कहना है कि सड़क को दोबारा चालू करने में 2 दिन तक का वक्त लग सकता है.

ऐसे हुआ हादसा शुक्रवार की दोपहर को करीब 3.30 बजे जोशीमठ से करीब 8 किलोमीटर दूर विष्णुप्रयाग के पास पहाड़ का एक बड़ा हिस्सा सड़क पर आ गिरा. गनीमत रही कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ. लेकिन पहाड़ी टूटने से बद्रीनाथ का रास्ता बंद हो गया है. सड़क का करीब 150 मीटर का हिस्सा पूरी तरह तबाह हो गया है. पहाड़ का ये हिस्सा पिछले 2 दिनों से दरक रहा था. लिहाजा यात्रियों को दुर्घटनास्थल से करीब 200 मीटर पीछे ही रोक दिया गया था.

मुश्किल में यात्री हादसे की वजह से करीब 15 हजार यात्री बद्रीनाथ धाम के रास्ते में फंस गए हैं. उत्तराखंड सरकार ने उनके ठहरने के लिए उचित प्रबंध करने के निर्देश दिए हैं. यात्रियों को वहीं रुकने के लिए कहा गया है. रास्तों में खड़ी गाड़ियों को भी रोके रखने के आदेश दिये गए हैं. हालत ये है कि देश के कोने-कोने से आए श्रद्धालु अब सड़क के दोनों ओर बैठकर इंतजार कर रह रहे हैं. कुछ लोग रास्ते से ही लौटने की भी तैयारी कर रहे हैं.

पहले भी हो चुका है हादसा ये वही जगह है जहां साल 2015 में भी भूस्सखलन हुआ था. तब भी ये रास्ता करीब 1 हफ्ते तक बंद रहा था. उस वक्त की सरकार ने यात्रियों को निकालने के लिए सब्सिडी पर हेलीकॉप्टर यात्राएं शुरू करवाई थीं. इस बार बीआरओ के अधिकारी सड़क को 2 दिनों मे दोबारा खोलने का दावा कर रहे हैं.

Sponsors

Get real time updates directly on you device, subscribe now.