Breaking News
         

रतन टाटा को 4 बार हुआ था प्यार, पर नहीं हो सकी शादी!

दिग्गज बिनैसमैन रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर 1937 को सूरत में हुआ था. टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन ने अपनी एक अलग पहचान बनाई और बेहतर मुकाम भी हासिल किया. टाटा ग्रुप को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने के बाद उन्‍होंने जनवरी 2013 में अपने कार्यभार से रिटायरमेंट ले लिया था. बिजनेस की दुनिया में तो रतन टाटा ने खूब नाम कमाया लेकिन प्यार के मामले में वह असफल ही साबित हुए.

एक टीवी चैनल से इंटरव्यू में अविवाहित उद्योगपति रतन टाटा ने अपनी लव लाइफ के बारे में भी खुलासा किया था. उन्होंने कहा कि उन्हें भी प्यार हुआ था और वह चार बार शादी के बंधन में बंधने से चूके.

टाटा ने कहा कि लेकिन दूर की सोचते हुए उन्हें लगता है कि अविवाहित रहना उनके लिए ठीक साबित हुआ, क्योंकि अगर उन्होंने शादी कर ली होती तो स्थिति काफी जटिल होती.

उन्होंने कहा, अगर आप पूछे कि क्या मैंने कभी दिल लगाया था, तो आपको बता दूं कि मैं चार बार शादी करने के लिए गंभीर हुआ और हर बार किसी न किसी डर से मैं पीछे हट गया. अपने प्यार के दिनों के बारे में टाटा ने कहा, जब मैं अमेरिका में काम कर रहा था, तो शायद मैं प्यार को लेकर बेहद गंभीर हो गया था और हम केवल इसलिए शादी नहीं कर सके, क्योंकि मैं वापस भारत आ गया.

आखिर में उनकी प्रेमिका ने किसी और से शादी कर ली.

यह पूछे जाने पर कि जिनसे उन्हें प्यार हुआ था, क्या वे अब भी शहर में हैं, उन्होंने हां में जवाब दिया, लेकिन इस मामले में आगे बताने से इनकार किया.

रतन टाटा को विमान उड़ाने और पियानों बजाने का भी शौक है. अपने रिटायरमेंट के बाद उन्‍होंने कहा था कि अब मैं बाकी जीवन अपने शौक पूरे करना चाहता हूं. अब मैं पियानों बजाऊंगा और विमान उड़ाने के अपने शौक को पूरा करूंगा.

भारत सरकार ने रतन टाटा को पद्म भूषण (2000) और पद्म विभूषण (2008) द्वारा सम्मानित किया. ये सम्मान देश के तीसरे और दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *